Poetry.com

2 54 2

दुःख तो ज़िन्दगी में आने जाने हैं

Date Written: October 5, 2017
Categories:
 

दुःख तो ज़िन्दगी में आने जाने हैं ,

न सह पाएंगे हम यह तो सब बहाने  हैं ,

बहुत लोग आये और आ के चले गए

न जाने लोग और  कितने वक़्त ने मिलाने हैं ,

दुःख तो ज़िंदगी में आने जाने हैं। ……..

 

लाखों की भीड़ में खो न जाना कहीं ,

जो रखता दिल तोड़ता भी है वही ,

कुछ तो अपने ज्यादा बेगाने हैं ,

कुछ सपने हुए पुरे कुछ अभी सजाने हैं ,

दुःख तो ज़िंदगी में आने जाने हैं………

 

आँख से आंसू अभी न जाने कितने गिराने  हैं ,

तेरी तरह  दुनिया में जाने कितने दीवाने हैं ,

कभी कभी हालात से करना पड़ता है समझौता ,

ज़िंदगी में देखे बहुतों के टूटते आशियाने हैं ,

दुःख तो ज़िंदगी में आने जाने हैं. ……. 

2 comments on “दुःख तो ज़िन्दगी में आने जाने हैं”

  1. Sonia Crt     October 6, 2017

    wow..heartfelt

  2. Amandeep     October 11, 2017

    Thanku mh frnd

Leave a Reply

No image आँखों में ख्वाब इन आँखों में ख्वाबकुछ सुनहरे हैं ,इस दिल राज कुछ सागर…
by Amandeep
1 65 0
No image हसीन चेहरे सुना है हर  हसीन चेहरे वाले  का दिल हमेशा साफ़ नहीं…
by Amandeep
1 95 2
No image किसी  की याद कुछ लिखना चाहते थे आजइसीलिए कागज़ कलम उठाया ,लिखने जब…
by Amandeep
1 150 0

Amandeep

share
ADD TO COLLECTION
Register
Send message